Home based online earning opportunies for house wife, part time job and work for beginners

नशीले वस्तुओ का सेवन:

किशोरों के दिमाग को अधिक नुकसान पहुँचाती है शराब

अनुसंधान ने यह साबित कर दिया है के आलकोहल किशोरो के विकासोन्मुख दिमागों को आधिक नुकसान पहुँचाता है जबकि पूर्व विज्ञानिक का मत इसके विपरित था। नवीनतम शोध के अनुसार अलकोहल (alcohal) वयस्क दिमागों के अपेक्षा किशोरों के दिमाग को अधिक नुकसान पहुँचाता है।Image  of brain Before alcohal

इन खोजो मे इस धारणा को समाप्त कर दिया है कि कई साल तक भारी मात्रा मे अल्कोहल का इसतेमाल करने से ही स्‍नायु तंत्र गंभीर रुप से जख्मी होता है खोज यह बताती है कि शुरुआत मे भारी मात्रा मे अल्कोहल का प्रयोग आपको शराबखोर बनने से रोकने के लिए वाछित स्‍नायु तंत्र की क्षमता को कमज़ोर कर देता है।

इस संबंध मे किए गए अनुसंधान यह बताने मे मदद करेगें कि जो लोग किशोरावस्था में शराब पीना शूरु कर देते हैं उसमे शराबखोर बनने की यथावना बहुत अधिक रहती है।

आर्काइवस आँफ पैडिएट्रिकस एंड एडोल्सेन्ट मैडिसिन मे प्रकाशित अमेरिका मे ४३,०९३ वयस्कों पर किए गए एक सर्वे के नतीजो के अनुसार जिन लोगों ने Image  of brain After alcohal१४ वर्ष से कम आयु मे शराब का इसतेमाल करना शुरु कर दिया था, उनमे से ४७ प्रतिशत शराब के गुलाम बन गए जबकि जिन लोगों ने २१ वर्ष के उम्र के बाद शुरु किया उनमे से ९ प्रतिशत ही नशेडी बने। अमेरिकी सरकार की सहायता प्राप्‍त प्रयोगशाला मे किशोर चुहों के दिमाग पर शराब के सेवन का परिक्षण किया गया जिसमे शराब का सेवन करने से होने वाली शारीरिक क्षति के सबसे गंभीर सबूत मिले हैं।

इन अध्ययनो मे पाया गया कि शराब पीने से अगले हिस्‍से तथा हिप्पोकैपस में गंभीर कोशकिय क्षति पहुँचती है। हालांकि यह सपष्‍ट नही है कि इन जांच परिणामो को मनुष्य पर कैसे लागू किया जा सकता है। इस खोज मे यह भी सबूत मिले हैं कि युवा शराबी मिलती जुलती कर्मियों से पिडित हो सकते है। अमेरिका सरकार द्धारा प्राप्‍त अनुसंधानकर्ताओं ने सान डिएगो मे लगभग ८ वर्ष तक अध्ययन किया। इस अध्ययन मे पाया गया कि शराब पीने वाले किशोरो ने मौखिक तथा अमौखिक परिक्षा मे बहुत ही घटिया प्रदर्शन किया। डयूक यूनिवर्सिटी में मनोवैज्ञानिक विभाग मे असिस्टेंट रिसर्च प्रोफैसर तथा कालेज परिसर मे अत्याधिक शराब खोरो पर हालिया अध्ययन के सहलेखक एरोन वहाइट कहते हैं कि 'अब इस बारे मे कोई संदेह नही है कि किशोर अवस्था मे शराब के अधिक सेवन से दूरगामी परिणाम बहुत भयंकर हैं ।
Effect of alcohalडयूक मे किशोर चूहों पर अल्कोहल के प्रभाव पर हुई खोज मे शामिल डाँ व्हाइट कह्ते हैं, 'हम जानते है कि ५ या १० साल पहले अल्कोहल दिमाग को किसी अन्य ढंग से प्रभावित करती थी । इस ओर तत्‍काल ध्यान देने की आवश्यकता है'। रिसैप्‍टर्स एक या दो ड्रिंक लेने से अभिग्राही की क्रियाएं धीमी हो जाती हैं जबकि इस मे अधिक अल्कोहल का प्रयोग करने पर वे लगभग पूरी तरह ठ्प हो जाते है।

 

     द न्यूयाँक टाइम्स के सौजन से दैनिक पंजाब केसरी मे प्रकाशित

Published by Himarticles